जिन्नात के बारे में अकीदा

Saturday, April 10, 2010 8:49 AM Posted by rafiq khan

अल्लाह तआला ने जिस मखलूक (प्राणी) को आग से पैदा किया उसे
जिन्न या जिन्नात कहते हैं.हिन्दी में भूत प्रेत जिन्नात को ही कहते हैं.
अल्लाह ने इनको ये ताक़त दी है कि जिस शक्ल को चाहे इख्तियार कर
सकते हैं.इनको और भी ऐसी कई खासियतें दी है जो इंसानों को नहीं दी.
लेकिन फिर भी इंसान को जिन्नात पर फजीलत दी है.ये आम तौर पर
इंसानों को दिखाई नहीं देते.ये इंसानों कि तरह खाते पीते हैं.जीते हैं.मरते
हैं.इनमें मर्द और औरत दोनों होते हैं.इनके बच्चे पैदा होते हैं.इनमें मुसलमान
भी होते हैं काफिर भी.नेक भी होते हैं बदमाश भी.जिन्नात के वजूद का
इनकार करने वाला काफिर है.क्योंकि जिन्नात का वजूद कुरआन से
साबित है.

Comments (4)

good effort mr khan

amit

ye baat sahi hai...

masha allah, kya bath hai khan saab,short karke bahuth aur sahee jankari post ki hai.jazakallahu qairan.

bilkul sach bat kahi hai jinnat hote hai

Post a Comment